Trending News

Solar Panel Subsidy: अब सोलर पैनल सब्सिडी पर 40% की छूट सरकार द्वारा, कैसे करें आवेदन

Written by Trending News

Solar Panel Subsidy: अब सोलर पैनल सब्सिडी पर 40% की छूट सरकार द्वारा, कैसे करें आवेदन

सूर्य ऊर्जा एक प्राकृतिक स्रोत है और इसे विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए सोलर पैनल की आवश्यकता होती है। लेकिन सोलर पैनल की उच्चमूल्य के कारण, अधिकांश लोग इसका उपयोग नहीं करते हैं। सरकार द्वारा सोलर पैनलों के उपयोग को बढ़ाने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। भारत में सोलर पैनल सब्सिडी (Solar Panel Subsidy in India) प्राप्त करने के लिए यह आर्टिकल आपकी सहायता करेगा।

 

सोलर पैनल सब्सिडी योजना – सोलर रूफटॉप योजना

सौर ऊर्जा का उपयोग करने के लिए नवीन एवं नवीकरणीय मंत्रालय (MNRE) द्वारा सोलर रूफटॉप योजना के फेज २ की शुरुआत की गई है। इस योजना में, स्थानीय विद्युत वितरण कंपनी DISCOM द्वारा सोलर पैनलों की स्थापना की जाएगी। योजना में नागरिकों को ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए ही सब्सिडी (Rooftop Solar Panel Subsidy) प्रदान की जाएगी।

 

यहां एक नागरिक अगर अपने घर पर 3 किलोवाट तक का सोलर पैनल स्थापित करना चाहता है, तो उसे 40% सब्सिडी डिस्कॉम द्वारा प्रदान की जाएगी। अगर उसी नागरिक अपने घर पर 3 से 10 किलोवाट क्षमता का सोलर पैनल स्थापित करता है, तो उसे 20% सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

 

इस योजना का लाभ नागरिक को तभी मिलेगा जब वह डिस्कॉम कंपनी द्वारा चयनित विक्रेता (Vendors) से सोलर पैनल को स्थापित करवाए। इस योजना में विक्रेताओं का चयन डिस्कॉम द्वारा निविदा (Tender) के माध्यम से किया जाता है।

 

कुसुम योजना

देश के किसानों को कृषि हेतु सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कुसुम योजना (PM Kusum solar panel scheme in India) शुरू की गयी है। इस योजना में सरकार द्वारा किसानों को सोलर पम्प स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जिस से किसान कृषि करने में उसका प्रयोग कर पाएगा, साथ ही अधिक बिजली उत्पादन होने पर ग्रिड को भेज सकता है जिससे उसे लाभ प्राप्त होगा।

 

सोलर रूफटॉप योजना के लाभ

इस योजना के माध्यम से होने वाले लाभ निम्नलिखित हैं:

 

देश के अधिक से अधिक नागरिक सोलर पैनलों को स्थापित कर सब्सिडी प्राप्त करेंगे। उन्हें कम राशि में सोलर प्लांट को स्थापित करने का मौका मिलेगा।

इस योजना में जिस विक्रेता द्वारा सोलर प्लांट स्थापित किया जाएगा, उसे उस प्लांट का 5 साल तक रखरखाव करने के लिए भी प्रतिबद्ध रहना होगा। ऐसे में प्लांट के खराब होने पर भी निःशुल्क उसे ठीक किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत लगाए जाने वाले सोलर पैनल ऑन-ग्रिड माध्यम से लगेंगे जिसमें सोलर पैनल की बिजली को ग्रिड के साथ जोड़ा जाएगा। उपभोक्ताओं को बिजली के बिल में बहुत छूट प्राप्त होगी।

सोलर पैनल स्थापित करने से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होगा और ग्रीन हाउस गैसों को कम किया जा सकेगा।

भारत में सौर ऊर्जा के अधिक प्रयोग से यहां की सौर ऊर्जा की क्षमता में वृद्धि संभव होगी।

सोलर रूफटॉप योजना के अंतर्गत लगाए जाने वाले प्लांट की विशेषताएँ

 

इस योजना में लगाए जाने वाले सोलर पैनल MNRE के मानकों के अनुसार बने होंगे और ALMM (Approved List of Models and Manufacturers) में रजिस्टर होंगे।

सोलर प्लांट में लगने वाला सोलर इन्वर्टर MNRE और भारतीय मानक ब्यूरों (BIS) के अनुसार बना होगा।

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के मानकों के अनुसार बनी सोलर डीसी और एसी केबल लगाई जाएगी।

सोलर पैनल प्लांट लगने के बाद कम से कम 75% सफल स्थापित होने का परीक्षण किया जाएगा।

पैनल प्रोजेक्ट के स्थापित हो जाने के बाद मेंटिनेंस के लिए 5 वर्षों की वारंटी प्रदान की जाएगी।

भारत में सोलर पैनल सब्सिडी राज्यों के अनुसार

भारत के प्रत्येक राज्य में सोलर पैनल स्थापित करने पर कुल राशि अलग हो सकती है, यह उस राज्य की डिस्कॉम पर निर्भर करता है। निम्नलिखित सारणी में दी गई धनराशि समय के

साथ कम-ज्यादा हो सकती है

NumberStateSolar Panel Price (INR)Subsidy Amount (INR)Total Cost with Subsidy (INR)
1Maharashtra41,40016,56028,000 to 55,000
2Delhi39,00016,60030,000 to 60,000
3Uttar Pradesh37,00014,80030,000 to 60,000
4Haryana39,50015,80029,000 to 54,000
5Madhya Pradesh39,00015,64030,000 to 55,000
6Gujarat41,00016,39028,000 to 53,000

सबसे पहले, रूफटॉप योजना के राष्ट्रीय पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट solarrooftop.gov.in पर जाएं।
पोर्टल के मुख्य पृष्ठ में, ‘Register Here’ पर क्लिक करें।
अब अपने राज्य और डिस्कॉम कंपनी का चयन करें। अपना विद्युत उपभोक्ता नंबर दर्ज करें। चेकबॉक्स पर टिक करें और ‘Next’ पर क्लिक करें।
अब, मोबाइल नंबर और ईमेल दर्ज करें। ‘Submit’ पर क्लिक करें। अब, मोबाइल नंबर या उपभोक्ता नंबर के साथ लॉगिन करें।
लॉगिन करने के बाद, सोलर रूफटॉप योजना के आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करें और ‘Submit’ पर क्लिक करें।
इसके बाद, जब आपका सोलर प्लांट डिस्कॉम कंपनी के चयनित सोलर विक्रेता द्वारा स्थापित किया जाएगा, तो पोर्टल पर विवरण जमा करें और नेट मीटर का आवेदन करें।
नेट मीटर लगने के बाद, कमीशनिंग रिपोर्ट, अपना बैंक विवरण और एक रद्द चेक पोर्टल पर अपलोड करें।
आवेदन की पूरी प्रक्रिया पूरी करने के बाद, 30 दिनों के भीतर आपके बैंक खाते में सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

Personal loan: यह बैंक दे रहा है 30 लाख का पर्सनल लोन कैसे करें आवेदन, सस्ती ब्याज पर ले loan 

About the author

Trending News

Leave a Comment