Trending News

Silver Gold price today: सोने में भारी गिरावट होने के कारण आज बाजार में हुई की भीड़ आप भी खरीद सकते हैं इतना सस्ता सोना

Written by Trending News

Silver Gold price today: सोने में भारी गिरावट होने के कारण आज बाजार में हुई की भीड़ आप भी खरीद सकते हैं इतना सस्ता सोना

Silver Gold price today: भारत में चांदी की बाजार में आज दिन महंगाई के तहत विभिन्न मापदंडों पर आधारित दाम होते हैं। यदि आप चांदी के सिक्के, बार, या आभूषण खरीदना चाहते हैं, तो आपको इसके मूल्य को समझने की और विक्रय और खरीदारी की स्थितियों की देखभाल करने की आवश्यकता होगी। चांदी की प्योरिटी, विक्रेता की विश्वसनीयता, और वजन को निर्धारित करने के मापदंडों को जानना महत्वपूर्ण है। यहाँ, आप नवीनतम दाम देख सकते हैं। भारत में वर्तमान में चांदी की कीमत 71 रुपये प्रति ग्राम है। सभी दाम आज के लिए अपडेट किए गए हैं और ये उद्योग के मानकों के अनुसार हैं।

चांदी के दाम के बारे में विस्तार से जानें
सोने की तुलना में, चांदी अधिक किफायती मानी जाती है और यह एक अच्छा निवेश भी माना जाता है, इसके अतिरिक्त यह विशेष अवसरों के लिए उपहार के रूप में भी बेहतर है। यह सिक्के और बारों के रूप में आसानी से उपलब्ध होती है, जिनका वजन 10 ग्राम से 1 किलोग्राम तक होता है। इसका इलेक्ट्रॉनिक्स और वैज्ञानिक उपकरणों में भी उपयोग होता है। घरों में उपयोग होने वाले कुछ आइटम भी चांदी या स्टर्लिंग सिल्वर से बने हो सकते हैं। साथ ही, चांदी के प्राचीन पीसेज भी धातु के वजन से अधिक मूल्यवान हो सकती है।

भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) ने हॉलमार्क लाइसेंस (IS 2112:2014) तैयार किया है, जो चांदी के किसी भी आइटम की सटीक प्योरिटी को निर्धारित करने में मदद करता है। यह विक्रेता और खरीदार के बीच विश्वस्तता की गारंटी देता है। इसके अलावा, प्योरिटी के आधार पर चांदी की उपयुक्त मूल्य तय किया जा सकता है। यदि आप चांदी खरीदने में धोखा होने को लेकर चिंतित हैं, तो आपको BIS मार्क और ज्वैलर की पहचान का निशान देखना चाहिए। हालांकि, चांदी के लिए हॉलमार्किंग अनिवार्य नहीं है, लेकिन इसे आने वाले समय में अनिवार्य किया जा सकता है।

चांदी का वजन

चांदी का वजन

चांदी की प्योरिटी (purity of silver)
सबसे प्योर चांदी 999.9 रेटेड होती है, जिसे 9999 भी लिखा जा सकता है। यह 99.99 प्रतिशत प्योर चांदी होती है और इसका इस्तेमाल चांदी के सिक्कों और कुछ देशों के मिंट की ओर से जारी किए जाने वाले बुलियन के साथ ही मेडिकल या वैज्ञानिक उपकरणों में होता है। प्योर चांदी का सबसे सामान्य वाणिज्यिक ग्रेड 999 है। इसका बाजार में उपयोग फाइन सिल्वर के रूप में भी होता है। इस चांदी में केवल 0.1 प्रतिशत कॉपर, लेड, या आयरन जैसी अन्य धातुएं होती हैं। 999 सिल्वर लचीली होती है और इससे आसानी से आभूषण बनाया जा सकता है। निवेश या उपहार देने के लिए आप बैंकों या ज्वैलर्स से आसानी से 999 चांदी के सिक्के और 999 चांदी की बार या बिस्किट प्राप्त कर सकते हैं।

इन ग्रेड से नीचे आपको 990 या 970 चांदी भी मिलेगी, जिनमें क्रमशः 99 प्रतिशत और 97 प्रतिशत प्योरिटी होती है। इसका उपयोग आभूषण के साथ ही कटौती बनाने में भी हो सकता है।

925 सिल्वर 92.5 प्रतिशत प्योर होती है। यह अंतरराष्ट्रीय तौर पर स्टर्लिंग सिल्वर की पहचान रखती है। आपको स्टर्लिंग सिल्वर से बने आर्टिफैक्ट्स, आभूषण, उपहार और पेन मिल सकते हैं। इससे नीचे 900 सिल्वर, 835 सिल्वर, और 800 सिल्वर की प्योरिटी क्रमशः 90 प्रतिशत, 83.5 प्रतिशत, और 80 प्रतिशत की होती है। यह धातु का सबसे निचला स्तर है, जिसे चांदी कहा जा सकता है। प्योरिटी कम होने के बावजूद, ये अल्लॉय प्रति दिन के आइटम्स में उपयोग के लिए बेहतर होते हैं क्योंकि अन्य धातुओं से अधिक मिलने की वजह से इसमें स्थायित्व होता है।

चांदी को खरीदने की गाइड (Silver Buying Guide)
चांदी की वैल्यू बहुत से लोगों के लिए निवेश का एक आकर्षण होती है क्योंकि यह बजट में हो सकती है और इसकी वैल्यू भी बढ़ती है। चांदी के आइटम्स के इस्तेमाल के साथ ही उनकी वैल्यू भी बरकरार रहती है। सभी निवेशों में जोखिम होता है, और इस कारण से खरीदारों को प्योरिटी, वजन, सर्टिफिकेटेस जैसे कारणों पर ध्यान देना चाहिए।

चांदी का वजन (weight of silver)
आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप जो आइटम खरीद रहे हैं वह वास्तव में चांदी का है और उसकी केवल सतह सिल्वर प्लेटेड नहीं है। चांदी के सिक्के 10 ग्राम, 15 ग्राम, 20 ग्राम, 25 ग्राम, 50 ग्राम, 100 ग्राम, 200 ग्राम, 250 ग्राम, 500 ग्राम, और 1 किलोग्राम में भी उपलब्ध होते हैं। तोला के 58 ग्राम और 116 ग्राम वजन में भी खरीदारी की जा सकती है। चांदी के बिस्किट और बार भी 10 ग्राम, 25 ग्राम, 50 ग्राम, 100 ग्राम, 250 ग्राम, 500 ग्राम और इससे अधिक वजन में उपलब्ध होते हैं। चांदी का नोट, बाउल, प्लेट, मूर्ति, ट्रोफी, पिक्चर फ्रेम, इत्यादि डेकोरेटिव या विशेष अवसरों पर दिए जाने वाले आइटम भी खरीदे जा सकते हैं और ये विभिन्न डिजाइन में होते हैं।

चांदी की ज्वैलरी को वजन के अनुसार बेचा जाता है लेकिन मेकिंग चार्ज और लागू GST से कीमत बढ़ सकती है। ज्वैलर्स धातु की वैल्यू के प्रतिशत के तौर पर फिक्स्ड मेकिंग चार्ज ले सकते हैं और यह प्रति पीस के अनुसार भी हो सकता है। कारीगर के स्किल, अनुभव और डिजाइन की जटिलता के आधार पर कीमतें अलग हो सकती हैं। ज्वैलरी खरीदने से पहले ज्वैलर से सलाह लेना और कीमत पर सहमत होना बेहतर रहता है। अगर आप बाद में अपने निवेश को बेचना चाहते हैं तो ज्वैलर्स चांदी के बायबैक आइटम्स की पेशकश भी कर सकते हैं।

धातु के वजन के आधार पर पिघलाने पर वैल्यू कम हो सकती है। हालांकि, अगर चांदी बहुत फाइन है या ज्वैलरी का कोई सांस्कृतिक या एंटीक महत्व है तो वैल्यू अधिक हो सकती है। कलेक्टिबल आइटम्स की वैल्यू भी चांदी के वजन से अधिक हो सकती है।

बड़े शहरों में चांदी के दाम
चांदी की प्रति ग्राम कीमत मार्केट की स्थितियों, सप्लाई और डिमांड के आधार पर प्रतिदिन बदलती है। वैल्यू में प्रत्येक बदलाव का पूर्वानुमान लगाना संभव नहीं है, लेकिन आप प्रतिष्ठित वेबसाइटों पर या निकटतम ज्वैलर्स या बैंकों में विवेकपूर्ण विवरण प्राप्त कर सकते हैं। नीचे दिए गए चारों बड़े शहरों की चांदी की प्रति ग्राम की कीमत है:

About the author

Trending News

Leave a Comment