Sarkari Yojana

PM Garib Kalyan Anna Yojana: PM मोदी का महत्वपूर्ण एलान, अगले 5 वर्षों मिलेगा मुफ्त राशन, जानिए कौन हो सकता है लाभान्वित?

Written by Trending News

PM Garib Kalyan Anna Yojana: PM मोदी का महत्वपूर्ण एलान, अगले 5 वर्षों मिलेगा मुफ्त राशन, जानिए कौन हो सकता है लाभान्वित?

PM Garib Kalyan Anna Yojana: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना गरीबों के लिए मुफ्त राशन प्रदान करने की एक महत्वपूर्ण योजना है। इसे आत्मनिर्भर भारत के हिस्से के रूप में प्रस्तुत किया गया था। यह योजना अप्रैल से जून 2020 और जुलाई से नवंबर 2020 तक के पहले और दूसरे चरण के लिए चली थी, इसके बाद भी इसका प्रचार जारी रहा। हालांकि, प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में छत्तीसगढ़ के दुर्ग में एक चुनावी रैली के दौरान इस योजना को 5 सालों तक बढ़ाने का एलान किया है।

पीएम गरीब अन्य कल्याण योजना

पीएम गरीब अन्य कल्याण योजना

दुर्ग में पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने बड़ा एलान किया है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना महामारी के समय जब पूरी दुनिया उत्तराधिकारी थी, तब भी भारत ने गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की, जिससे लोग आज भी मुफ्त चावल और चने प्राप्त कर रहे हैं। यह योजना बनाए जाने वाले कार्यक्रमों में से एक है, जिसका मूल्यांकन आपके नौकरी जीवन में बड़ी सुधार कर सकता है।

इस योजना की शुरुआत 17 दिसंबर 2016 को हुई थी और 7 जून 2021 को प्रधानमंत्री मोदी ने इसका विस्तार किया। इसके तहत, 80 करोड़ गरीबों को महीने भर में 5 किलो गेहूं या चावल और 1 किलो पसंदीदा दाल मुफ्त में प्रदान किया जा रहा है। साथ ही, प्रत्येक परिवार को प्रति माह 1 किलो मुफ्त साबुत चना भी मिलता है। योजना में बीपीएल परिवारों को मुफ्त सिलेंडर भी प्रदान किया जाता है। कोविड-19 के समय, प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना के तहत गरीबों के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज भी घोषित किया था। उस समय, इस योजना में 20 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों को तीन महीनों के लिए प्रति माह 500 रुपये दिए गए थे।

कौन होगा योजना का लाभार्थी?

इस योजना के तहत नीचे दी गई श्रेणियों में लोग इसके लाभार्थी हो सकते हैं:

गरीबी रेखा से नीचे के सभी परिवार

अंत्योदय अन्न योजना के तहत परिवार

प्राथमिकता वाले परिवार

विधवा

अंतिम रूप से बीमार व्यक्ति

विकलांग व्यक्ति

60 वर्ष या उससे अधिक आयु वाले व्यक्ति

एकल महिला या एकल पुरुष

सभी आदिम आदिवासी परिवार

भूमिहीन खेतिहर मजदूर

सीमांत किसान

ग्रामीण कारीगर/शिल्पकार

अनौपचारिक क्षेत्र के व्यक्ति

सभी एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति जो गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों से संबंधित हैं।

इसके अलावा, ग्रामीण कारीगर/शिल्पकार, चर्मकार, बुनकर, लोहार, बढ़ई, झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले, और अनौपचारिक क्षेत्र में दैनिक आधार पर अपनी आजीविका कमाने वाले व्यक्तियां जैसे कुली, रिक्शा चालक, हाथ गाड़ी खींचने वाले, फल और फूल विक्रेता, सपेरे, कूड़ा बीनने वाले, मोची भी इस योजना के लिए पात्र हो सकते हैं।

About the author

Trending News

Leave a Comment