Sarkari Yojana

Kanya Sumangala Yojana: 25,000 रुपये, बढ़कर अब मिलेंगे 51 हजार रुपए बेटियों को जल्दी करें आवेदन

Written by Trending News

Kanya Sumangala Yojana: 25,000 रुपये, बढ़कर अब मिलेंगे 51 हजार रुपए बेटियों को जल्दी करें आवेदन

Kanya Sumangala Yojana उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की है कि वर्ष 2024-2025 में कन्या सुमंगला योजना के तहत दी जाने वाली धनराशि 15,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये होगी। यह नई योजना उत्तर प्रदेश की बेटियों को अधिक आर्थिक सहायता प्रदान करने का एक कदम है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि इस योजना के तहत बेटी को जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक कई चरणों में धनराशि प्रदान की जाएगी।Kanya Sumangala Yojana इसका पहला चरण 2,000 रुपये है, जो बेटी के जन्म पर दी जाएगी। उसके बाद टीकाकरण के समय भी 2,000 रुपये मिलेंगे। इसके अलावा, बेटी की पढ़ाई के विभिन्न स्तरों पर राशि को बढ़ाया जाएगा, जैसे कक्षा 1 में 3,000 रुपये, छठी कक्षा में 3,000 रुपये, नौवीं कक्षा में 5,000 रुपये और ग्रेजुएशन या सर्टिफिकेट कोर्स करने पर 7,000 रुपये।

कन्या सुमंगला योजना

Kanya Sumangala Yojana

इस नई योजना के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी ने उत्तर प्रदेश की 16.24 लाख बेटियों को समर्थन प्रदान करने का कदम उठाया है। योगी आदित्यनाथ ने बेटियों को उनके सपनों को पूरा करने में और आत्मनिर्भर बनने में सहायता करने का आशीर्वाद दिया है।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि इस योजना के माध्यम से राज्य में 16.24 लाख बेटियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने का कदम उठाया जा रहा है। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ‘ कार्यक्रम को नई ऊंचाई पर ले जाने की दिशा में महत्वपूर्ण बताया है। उनके अनुसार, ‘डबल इंजन सरकार’ मानती है कि हर बेटी को समानता, सुरक्षा, और संरक्षण का हक होना चाहिए।

कन्या सुमंगला योजना के द्वारा प्रदेश में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की बेटियों को जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई तक की सहायता दी जा रही है। इस योजना के अंतर्गत, बेटी को विभिन्न चरणों में आर्थिक सहायता मिलेगी, जैसे की जन्म पर 2,000 रुपये, टीकाकरण के समय 2,000 रुपये, कक्षा 1, 6, और 9 में एडमिशन के लिए भी विभिन्न राशियाँ, और ग्रेजुएशन या सर्टिफिकेट कोर्स करने पर भी आर्थिक सहायता। आखिर में, जब बेटी 21 साल की हो जाएगी, तब उसे विवाह के लिए 51,000 रुपये दिए जाएंगे।

 

इस योजना के अंतर्गत, बेटियों को उनके जीवन के विभिन्न मोड़ों पर आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। पहले चरण में, जब बेटी का जन्म होता है, उसे 2,000 रुपये की राशि मिलती है। इसके बाद, टीकाकरण के समय भी 2,000 रुपये दिए जाते हैं, जिससे स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा सकता है।

उसके बाद, बेटी की पढ़ाई के लिए भी योजना बनाई गई है। इसके तहत, कक्षा 1 में एडमिशन के लिए 3,000 रुपये, कक्षा 6 में 3,000 रुपये, और कक्षा 9 में 5,000 रुपये दिए जाएंगे। इसके अलावा, अगर बेटी ग्रेजुएशन, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करती है, तो उसे 7,000 रुपये की राशि मिलेगी। यह सुनिश्चित करने के लिए है कि बेटियां अपनी उच्चतम शिक्षा तक पहुंच सकें और आत्मनिर्भर बन सकें।

इस योजना का एक और महत्वपूर्ण पहलुआ है विवाह के लिए दी जाने वाली राशि। जब बेटी 21 साल की हो जाती है, तब उसे 51,000 रुपये विवाह के लिए प्रदान किए जाते हैं, जिससे उसका भविष्य सुरक्षित रहता है।

मुख्यमंत्री योगी ने इस योजना के माध्यम से प्रदेश की बेटियों को समृद्धि और सम्मान से भरा जीवन जीने का मौका देने का उद्देश्य रखा है, साथ ही उन्होंने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम को नई ऊंचाई पर ले जाने की दिशा में प्रशंसा व्यक्त की है। इससे सामाजिक समरसता और बेटियों की सुरक्षा में सुधार होने की आशा की जा रही है।

Official website 👉 https://mksy.up.gov.in/women_welfare/

About the author

Trending News

Leave a Comment